MBBS डॉक्टर बनना चाहते है तो ये है सही तरीका 2023 : MBBS Doctor Kaise Bane

MBBS Doctor Kaise Bane : डॉक्टर एक व्यक्ति होता है जो चिकित्सा विज्ञान में प्रशिक्षित होता है और रोग और उनके इलाज के क्षेत्र में जानकारी रखता है। डॉक्टर विभिन्न चिकित्सा क्षेत्रों में काम कर सकते हैं, जैसे कि नामकरण के लिए डॉक्टर (जनरल प्रैक्टिशन), दन्त चिकित्सा के लिए डेंटिस्ट, ऑपरेटिव चिकित्सा के लिए सर्जन, मानसिक स्वास्थ्य के लिए प्साइकिएट्रिस्ट, बच्चों के डॉक्टर के रूप में पेडियाट्रिशियन, आदि।

एक डॉक्टर की शिक्षा एक लंबी प्रक्रिया होती है जो विभिन्न स्तरों पर हो सकती है, जैसे कि ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, और स्पेशलाइजेशन। इसके बाद, डॉक्टर अस्पतालों, निजी चिकित्सा प्रैक्टिस, शोध या शिक्षण क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

डॉक्टर का मुख्य उद्देश्य रोग की निदान, उपचार, और रोग प्रबंधन करना होता है। वे मरीजों की सेवा करने के लिए विभिन्न चिकित्सा मशीनो और तकनीकों का उपयोग करते हैं और स्वास्थ्य से संबंधित सलाह देने में भी सक्षम होते हैं।

डॉक्टरों का कार्यक्षेत्र विशाल है और उनकी भूमिका समाज में महत्वपूर्ण है, क्योंकि वे लोगों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं और जीवन को बेहतर बनाने का कारण बनते हैं।

MBBS Doctor Kaise Bane 

MBBS का मतलब है “बैचलर ऑफ़ मेडिसिन और सर्जरी” (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery)। यह एक पेशेवर डिग्री है जो चिकित्सा क्षेत्र में प्रशिक्षण प्रदान करती है और डॉक्टर बनने के लिए आवश्यक है। MBBS को कई देशों में चिकित्सा पढ़ाई के लिए प्रमुख डिग्री माना जाता है।

MBBS कार्यक्रम आमतौर पर पांच और आधे साल का होता है, जिसमें छात्र चिकित्सा विज्ञान, रोग निदान, चिकित्सा, और सर्जरी जैसे क्षेत्रों में शिक्षा प्राप्त करते हैं। पाठ्यक्रम के अंत में, छात्रों को अस्पतालों और चिकित्सालयों में प्रशिक्षण भी मिलता है, ताकि उन्हें वास्तविक रोग और मरीजों की देखभाल में काम करने का अनुभव हो।

MBBS का पूरा होने के बाद, छात्र एक रजिस्ट्रेशन परीक्षा पास करके डॉक्टर के रूप में प्रैक्टिस कर सकते हैं और चिकित्सा क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

MBBS एग्जाम का सिलेबस 2023

MBBS के प्रवेश परीक्षा का सिलेबस विभिन्न चिकित्सा कॉलेजों और प्रशिक्षण संस्थानों के आधार पर बदल सकता है, लेकिन सामान्यत: MBBS की प्रवेश परीक्षा का सिलेबस नीट (National Eligibility cum Entrance Test) या किसी अन्य प्रवेश परीक्षा के लिए एक आम सिलेबस पर आधारित होता है।

यहां एक सामान्य MBBS प्रवेश परीक्षा के सिलेबस की कुछ मुख्य बिंदुएं हैं:

  • Physics (भौतिक शास्त्र): आकाशीय गतिकी, ताप, विद्युत, ध्वनि, और विभिन्न भौतिकीय सिद्धांत।
  • Chemistry (रसायन शास्त्र): सामान्य रसायन शास्त्र, आम, अवसाद, तत्त्व और उनके गुण, अणुबंध, बौद्धिक आण्विकी, जैव रसायन, और आपूर्ति शास्त्र।
  • Biology (जीव विज्ञान): जीवों का संरचना और कार्य, पौद्य और जन्तुओं की जीवन प्रक्रियाएं, मानव अनातोमी, उदररोग, सामान्य जन्तु विज्ञान, और मानव जन्तु विज्ञान।
  • Botany (पौद्य विज्ञान) और Zoology (जन्तु विज्ञान):** पौद्य और जन्तुओं की विज्ञान में सम्पूर्ण जानकारी।
  • English (अंग्रेजी भाषा): सामान्य अंग्रेजी भाषा के कई पहलुओं की जानकारी।
  • Logical Reasoning (तार्किक तर्क): तार्किक तर्क और तार्किक समस्याओं का समाधान करने की क्षमता।
  • General Knowledge (सामान्य ज्ञान): विश्व का भूगोल, इतिहास, साहित्य, और समान्य ज्ञान के क्षेत्र में सामान्य जानकारी।
  • यह सिलेबस केवल सामान्य दिखाया गया है, और छात्रों को अपनी योग्यता और चयनित प्रवेश परीक्षा के आधार पर से तैयारी करनी चाहिए।

Doctor Ki Padhai kaise kare

डॉक्टर बनने के लिए व्यक्ति को कई कदमों पर चलना होता है। यहां कुछ मुख्य कदम और सुझाव दिए जा रहे हैं जो डॉक्टर बनने के लिए पढ़ाई कैसे करें:

  • Science Stream चयन करें: 10+2 के बाद, डॉक्टर बनने के लिए विज्ञान स्ट्रीम का चयन करें, जिसमें Physics, Chemistry, और Biology (PCB) शामिल होते हैं।
  • Entrance Exams की तैयारी: भारत में MBBS के लिए NEET (National Eligibility cum Entrance Test) है, और कई अन्य देशों में भी ऐसी प्रवेश परीक्षाएं होती हैं। इन परीक्षाओं की तैयारी में सहायक उपायों का सही चयन करें और नियमित रूप से पढ़ाई करें।
  • MBBS Course: प्रवेश प्राप्त होने के बाद, MBBS कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करें। यह कोर्स आमतौर पर 5.5 साल का होता है जिसमें चिकित्सा विज्ञान, सर्जरी, और अन्य मेडिकल विषयों में पढ़ाई की जाती है, फिर एक साल का इंटर्नशिप होता है।
  • Specialization (Optional): MBBS के बाद, आप विशेषज्ञ बनने के लिए और उच्चतम शिक्षा प्राप्त करने के लिए विकल्प हैं, जैसे MD (Doctor of Medicine) या MS (Master of Surgery)।
  • Internship: MBBS के अंत में, आपको एक साल का इंटर्नशिप करना होता है, जिसमें आपको वास्तविक चिकित्सा अनुभव प्राप्त होता है।
  • Registration: इंटर्नशिप के बाद, आपको राष्ट्रीय चिकित्सक पंजी (National Medical Commission या उसके समकक्ष) में पंजीकृत करना होता है।
  • पढ़ाई के दौरान, ध्यान रखें कि आप नियमित रूप से पढ़ाई करें, सही दिशा में मार्गदर्शन प्राप्त करें, और अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए प्रयासरत रहें। साथ ही, अच्छे मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें क्योंकि चिकित्सा क्षेत्र में योगदान करने के लिए यह महत्वपूर्ण है।

डॉक्टर कितने प्रकार के होते है

डॉक्टरों को कई प्रकार के चिकित्सा क्षेत्रों में विशेषज्ञता होती है, और वे अपनी क्षमताओं के आधार पर अलग-अलग रोगों और समस्याओं का इलाज करते हैं। यहां कुछ मुख्य चिकित्सा विशेषज्ञों की सूची है जो विभिन्न डॉक्टर में हो सकती है:

  • कार्डियलॉजिस्ट (Cardiologist): दिल से संबंधित समस्याओं का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • न्यूरोलॉजिस्ट (Neurologist): तंतुमध्य तंतुक्रिया और न्यूरॉन के रोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • गाइनाकोलॉजिस्ट (Gynecologist): महिलाओं के जनन संबंधित समस्याओं का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • एंडोक्राइनोलॉजिस्ट (Endocrinologist): हर्मोन संबंधित रोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • गैस्ट्रोएंटरॉलॉजिस्ट (Gastroenterologist): पाचन तंत्र से संबंधित समस्याओं का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • ऑर्थोपेडिक सर्जन (Orthopedic Surgeon): हड्डियों और जोड़ों से संबंधित समस्याओं का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • पुल्मोनॉलॉजिस्ट (Pulmonologist): फेफड़ों और फेफड़ों से संबंधित समस्याओं का इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • प्लास्टिक सर्जन (Plastic Surgeon): उपचार के लिए प्लास्टिक और कल्पनात्मक सर्जरी करने वाले डॉक्टर।
  • रेडियोलॉजिस्ट (Radiologist): रेडियोलॉजी में विशेषज्ञ, आयन चिकित्सा के लिए इलाज करने वाले डॉक्टर।
  • हेमैटोलॉजिस्ट (Hematologist): रक्त और रक्त संबंधित रोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर।

ये केवल कुछ उदाहरण हैं, और डॉक्टरों की विशेषज्ञता की कई अन्य क्षेत्रें भी हैं। डॉक्टर बनने के बाद, चिकित्सा शिक्षा और अनुभव के आधार पर वे अपनी रुचियों और रुझानों के अनुसार विशेषज्ञता चयन कर सकते हैं।

डॉक्टर ही क्यों बने ?

डॉक्टर बनने के पीछे कई कारण हो सकते हैं, और यह व्यक्ति की व्यक्तिगत प्रेरणा, रुचियां, और मानव सेवा के प्रति क्रियाशील उत्साह पर आधारित होता है। यहां कुछ कारण हैं जो लोगों को डॉक्टर बनने के लिए प्रेरित कर सकते हैं:

  • मानव सेवा की भावना: बहुत से लोग डॉक्टर बनने का निर्णय इस बात पर आधारित करते हैं कि उन्हें दूसरों की मदद करने और सेवा करने में आनंद आता है।
  • चिकित्सा क्षेत्र में रुचि: कुछ लोगों को चिकित्सा क्षेत्र में शिक्षा और सेवा करने में रुचि होती है, और वे अपनी रुचियों के अनुसार डॉक्टर बनने का निर्णय लेते हैं।
  • सामाजिक सेवा की भावना: डॉक्टर बनकर व्यक्ति समाज की सेवा में योगदान करने का अवसर प्राप्त करता है और समाज के हित में योगदान करने की इच्छा होती है।
  • चुनौतीपूर्ण कार्य: डॉक्टर बनना एक चुनौतीपूर्ण कार्य हो सकता है जिसमें व्यक्ति को समस्याओं का सामना करना पड़ता है और उन्हें हल करने का अवसर मिलता है।
  • साक्षरता और शिक्षा: व्यक्ति की शिक्षा और साक्षरता उसे अधिक जागरूक बनाती है और उसे चिकित्सा क्षेत्र में एक मार्गदर्शन योजना बनाने में मदद करती है।
  • सामाजिक सम्बंध: कुछ लोग डॉक्टर बनते हैं क्योंकि उनके परिवार में डॉक्टर होते हैं और उन्हें इस क्षेत्र में एक परिवारिक परंपरा का आग्रह करता है।
  • आत्म-समर्पण: चिकित्सा क्षेत्र में काम करने के लिए आत्म-समर्पण और सहिष्णुता की आवश्यकता होती है, और ऐसे लोग जो इसे तैयारी करने के लिए प्रेरित होते हैं, वे डॉक्टर बनते हैं।

डॉक्टर बनने का निर्णय व्यक्ति की व्यक्तिगत प्रेरणा, रुचियों और मौद्रिक आदर्शों पर निर्भर करता है।

डॉक्टर बनने के लिए स्किल?

डॉक्टर बनने के लिए कई स्किल्स और गुण आवश्यक होते हैं जो व्यक्ति को चिकित्सा क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने में मदद करते हैं। यहां कुछ मुख्य स्किल्स हैं जो एक अच्छे डॉक्टर में होती हैं:

  • समझदारी (Empathy): एक अच्छा डॉक्टर हमेशा अपने रोगियों की भावनाओं को समझता है और उन्हें सहानुभूति दिखाता है।
  • समस्याएँ शान्ति से सुनना: डॉक्टर को अपने रोगियों की समस्याओं को शान्ति से सुनने की क्षमता होनी चाहिए, ताकि वह सही रूप से निदान लगा सकें।
  • तंत्रिका प्रवृत्ति (Manual Dexterity): कुछ चिकित्सा प्रक्रियाएं हाथों की उच्च तंत्रिका प्रवृत्ति की आवश्यकता होती है, जैसे कि शल्य चिकित्सा में।
  • नौसिखिया (Problem Solving): डॉक्टर को रोगियों की समस्याओं का सही रूप से निदान लगाने और उपचार करने की क्षमता होनी चाहिए।
  • संगठनात्मक योजना बनाना: चिकित्सा क्षेत्र में काम करने के लिए संगठनात्मक योजना बनाने और प्रबंधन करने की क्षमता होनी चाहिए।
  • टीम काम करना (Teamwork): डॉक्टर अकेले नहीं होते, उन्हें टीम के साथ काम करना भी आता होना चाहिए।
  • जल्दी निर्णय: डॉक्टर को समस्याओं के तत्काल और सही निर्णय करने की क्षमता होनी चाहिए, विशेषकर आपात स्थितियों में।
  • उत्कृष्ट संवाद कौशल: अच्छे संवाद कौशल डॉक्टर को रोगी के साथ सही तरीके से संवाद करने में मदद करते हैं और उन्हें सही रूप से सलाह देने में सहारा प्रदान करते हैं।
  • सामरिकता (Resilience): चिकित्सा क्षेत्र में काम करना कई बार चुनौतियों भरा होता है, इसलिए डॉक्टर में सामरिकता और स्थिरता होनी चाहिए।
  • शिक्षा और सीखने का उत्साह: चिकित्सा शास्त्र में नई तकनीकों और तत्वों की निरंतर सीखने का उत्साह रखना डॉक्टर के लिए महत्वपूर्ण है।

इन स्किल्स का समावेश करना एक अच्छे डॉक्टर के लिए आवश्यक है, जिससे वह अपने रोगियों के साथ सही तरीके से संवाद कर सके और उन्हें उच्च-स्तरीय चिकित्सा सेवा प्रदान कर सके।

MBBS Doctor Kaise Bane

MBBS Colleges in India 2023 

भारत में MBBS (चिकित्सा) की पढ़ाई के लिए कई प्रमिक चिकित्सा कॉलेज हैं, जो छात्रों को चिकित्सा शिक्षा प्रदान करते हैं। यहां कुछ ऐसे प्रमुख चिकित्सा कॉलेज हैं जो भारत में स्थित हैं:

  1. AIIMS, New Delhi: AIIMS नई दिल्ली भारत के सबसे प्रमुख चिकित्सा संस्थानों में से एक है और यह देशभर में छह शाखाएं अनुपस्थित कर रहा है।
  2. King George Medical College, Mumbai: यह एक प्रमुख चिकित्सा कॉलेज है जो भारतीय राज्य महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित है।
  3. आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (AIIMS), जोधपुर: इस आइंस्टीट्यूट ने भी अपनी शिक्षा गुणवत्ता और शोध के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है।
  4. Krishna Institute of Medical Sciences, Karad: यह भारतीय राज्य महाराष्ट्र के कराड़ में स्थित है और एक प्रमुख चिकित्सा कॉलेज के रूप में मान्यता प्राप्त कर रहा है।
  5. Maulana Azad Medical College, New Delhi: यह नई दिल्ली में स्थित एक अन्य प्रमुख मेडिकल कॉलेज है और अपनी शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है।
  6. आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (AIIMS), भोपाल: भोपाल में स्थित यह आइंस्टीट्यूट भी भारत में चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थान पर है।
  7. Krishna Institute of Medical Sciences, Bengaluru: बेंगलुरु में स्थित इस कॉलेज ने भी अपने शिक्षा स्तर और सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में योजनाएं बनाई हैं।
  8. जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (JIPMER), पुडुचेरी: यह दक्षिण भारत में स्थित एक प्रमुख चिकित्सा संस्थान है और इसने अपने शिक्षा के क्षेत्र में पहचान बनाई है।
  9. Grant Medical College, Mumbai: यह भारतीय राज्य महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित है और एक प्रमुख चिकित्सा कॉलेज के रूप में जाना जाता है।
  10. Sir J.J. Institute of Medical Sciences, मुंबई: यह भी मुंबई में स्थित है और अपनी चिकित्सा शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है।

इनमें से हर एक कॉलेज अपने क्षेत्र में शिक्षा और शोध के क्षेत्र में पहचान बना रहा है और भारत में चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान कर रहा है।

डॉक्टर बनने के लिए कोर्स ?

डॉक्टर बनने के लिए आपको मेडिकल कोर्स पूरा करना होगा। आप MBBS (बैचलर ऑफ़ मेडिसिन एंड सर्जरी) की पढ़ाई कर सकते हैं, जिसकी अवधि लगभग 5.5 वर्ष है। इसके बाद, आपको इंटर्नशिप और रेजिडेंसी की अवधि भी करनी होगी।

और ये रहे डॉक्टर बनने के लिए टॉप 10 कोर्स जिनको आप कर सकते है

  1. MBBS (बैचलर ऑफ़ मेडिसिन एंड सर्जरी): यह कोर्स एक पेशेवर चिकित्सा डिग्री है जो डॉक्टर बनने के लिए आवश्यक है।
  2.   BDS (डेंटल सर्जरी): डेंटिस्ट बनने के लिए इस कोर्स को चुन सकते हैं।
  3. BAMS (आयुर्वेदिक चिकित्सा): आयुर्वेदिक चिकित्सक बनने के लिए यह कोर्स विकल्प हो सकता है।
  4. BHMS (होम्योपैथिक चिकित्सा): होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए इस कोर्स को चुन सकते हैं।
  5. PT (फिजियोथेरेपी): फिजियोथेरेपिस्ट बनने के लिए यह कोर्स अच्छा है।
  6. B.Sc Nursing (नर्सिंग): नर्स बनने के लिए इस कोर्स का चयन कर सकते हैं।
  7. B.Pharma (फार्मेसी): फार्मासिस्ट बनने के लिए इस कोर्स को अपना सकते हैं।
  8. BMLT (मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी): मेडिकल लैब टेक्निशियन बनने के लिए यह कोर्स विकल्प है।
  9. BUMS (यूनानी चिकित्सा): यूनानी चिकित्सक बनने के लिए इस कोर्स को चुन सकते हैं।
  10. B.Sc. (बायोटेक्नोलॉजी): डॉक्टरी क्षेत्र में और एक विकल्प है जिससे आप मार्गदर्शित कर सकते हैं।

डॉक्टर बनने के लिए विदेश में पढाई ?

विदेश में डॉक्टर बनने के लिए निम्नलिखित कदम उठा सकते हैं: जिन्हे आप कुछ इस तरह से कर सकते है

  • विदेशी विश्वविद्यालय में आवेदन: विदेशी विश्वविद्यालयों में MBBS की पढ़ाई के लिए आवेदन करें।
  • भाषा प्रमाण पत्र: अधिकांश देशों में आपको अंग्रेजी भाषा का प्रमाण पत्र प्रदान करना हो सकता है।
  • वीजा प्रक्रिया: चयनित विश्वविद्यालय में प्रवेश प्राप्त करने के बाद, आपको उच्च शिक्षा के लिए वीजा के लिए आवेदन करना होगा।
  • विदेशी पठन: विदेशी देश में रहने और पढ़ाई करने के लिए तैयारी करें, जो आपको वहां की चिकित्सा पद्धतियों और व्यावसायिकता को समझने में मदद करेगा।
  • लाइसेंस प्राप्ति: आपको डॉक्टर बनने के बाद अपने चयनित देश में मेडिकल लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आवश्यक परीक्षण और प्रक्रियाएं पूरी करनी होंगी।

सुनिश्चित हों कि आप चयनित देश के शिक्षा और पेशेवर आवश्यकताओं को समझते हैं और आपकी पढ़ाई को उच्च मानकों के अनुसार समाप्त करने के लिए सभी आवश्यक प्रमाणपत्र और अन्य दस्तावेज़ पूरे हैं।

MBBS डॉक्टर बनने के लिए योग्यता 

MBBS की पढ़ाई के लिए आपके पास योग्यता के रूप में ये सब होना जरूरी है जिसे हमने निम्न तरह से बताया है

  • उच्चतम शिक्षा (10+2): आपको उच्चतम शिक्षा में विज्ञान विषयों (भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान और गणित) में कम से कम 50% अंक प्राप्त करना आवश्यक है।
  • प्रवेश परीक्षा: अधिकांश देशों में MBBS के लिए एक प्रवेश परीक्षा होती है, जैसे NEET (National Eligibility cum Entrance Test) भारत में।
  • अन्य योग्यता शर्तें: कुछ देश और कॉलेज विशिष्ट योग्यता शर्तें रख सकते हैं, जैसे आयु सीमा, नागरिकता, और अन्य आवश्यक दस्तावेज़।

इसके अलावा, NEET जैसी परीक्षाओं के लिए तैयारी करना और उच्च अंक प्राप्त करना महत्वपूर्ण है। यदि आप इस प्रवृत्ति में हैं, तो एक अच्छे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करने का संभावना बढ़ता है।

MBBS डॉक्टर के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम

MBBS के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम का मुख्य उद्देश्य उम्मीदवारों को चिकित्सा कोर्सेज में प्रवेश प्राप्त करने का अवसर प्रदान करना होता है। भारत में, NEET (National Eligibility cum Entrance Test) एक प्रमुख MBBS प्रवेश परीक्षा है जो उम्मीदवारों को मेडिकल कॉलेज और विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए एक सामान्य प्लेटफ़ॉर्म प्रदान करता है।

NEET परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवारों को उच्चतम शिक्षा (10+2) में विज्ञान विषयों में 50% अंक प्राप्त करना आवश्यक होता है। प्रवेश परीक्षा क्षेत्र में चयन करने के पहले, उम्मीदवारों को परीक्षा का पैटर्न, सिलेबस, और अन्य आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक समझना चाहिए।

MBBS ke baad kya kare

MBBS के बाद, व्यक्ति को कई विकल्पों का सामना होता है. बहुत से चिकित्सा प्रोफेशनल्स अपने शिक्षा को और बढ़ने के लिए MD/MS में स्पेसिअलिज़े करते हैं.विशेषता प्राप्त करना का अवसर प्रदान करता है, जिसमें आप अपने पसंदीदा क्षेत्र में माहिर बन सकते हैं. कुछ लोग डिप्लोमा कोर्सेज भी करते हैं, जो उन्हें किसी विशेष चिकित्सा क्षेत्र में अधिगम करने का अवसर देते हैं.

सुपर-स्पेशलाइजेशन कोर्सेज जैसे की डीएम या मच भी एक विकल्प होते हैं, जिससे आप अपने क्षेत्र में और भी विस्तृत हो सकते हैं. शिक्षण में रूचि रखने वाले लोग मेडिकल कॉलेजेस में पढ़ाई देना पसंद करते हैं और अपने ज्ञान को अगले पीढ़ी तक पहुँचाने का काम करते हैं.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में रूचि रखने वाले लोग हॉस्पिटलों का प्रबंधन करते हैं, जबकि पब्लिक हेल्थ और क्लीनिकल रिसर्च में योगदान देते हैं. कुछ लोग अपना खुद का व्यवसाय भी शुरू करते हैं, जिसमें वे अपने चिकित्सा ज्ञान और कुशलता को इस्तेमाल करते हैं. MBBS के बाद, व्यक्ति को अपने उच्च शिक्षा, रूचि, और लक्ष्यों के आधार पर अपना करियर पथ तय करना चाहि।

MBBS डॉक्टर की सैलरी?

MBBS के डॉक्टरों की सैलरी विभिन्न कारणों पर निर्भर करती है, जैसे कि अनुभव, शहर का स्थान, नौकरी का प्रकार, और क्षेत्रिय विशेषज्ञता। भारत में, सरकारी और निजी क्षेत्रों में डॉक्टरों की सैलरी अलग हो सकती है।

सरकारी अस्पतालों या क्षेत्रीय स्वास्थ्य सेवाओं में काम करने वाले डॉक्टरों की सैलरी सामान्यत: स्केल और स्थिति के हिसाब से होती है। नए डॉक्टरों की शुरुआती सैलरी अधिकतम स्थिति के लिए आधारित होती है और समय के साथ बढ़ सकती है।

निजी सेक्टर में, डॉक्टरों की सैलरी विभिन्न हो सकती है और इसमें उनके स्वतंत्र अस्पतालों, चिकित्सा अनुसंधान संस्थानों या व्यापारिक चिकित्सा प्रदाताओं के साथ नेगोशिएट किए गए योगदानों पर आधारित होती है।

समग्र रूप से, एक MBBS डॉक्टर की वार्षिक सैलरी भारत में कुछ लाख रुपये से शुरू होकर बढ़ सकती है, जो उनके क्षेत्र और अनुभव के आधार पर निर्भर करती है।

निष्कर्ष :

हेलो दोस्तों आज हमने MBBS करने के बाद MBBS Doctor Kaise Bane डिटेल मैं बताने का कोसिस किया है जिससे आपको किसी प्रकार का कोई संदेह न पैदा हो और साथ ही साथ एक डॉक्टर बनने के लिए किन -किन बातों का ध्यान रखना चाहिए है ये सारे टॉपिक को हमने इस आर्टिकल मैं शामिल किया है अगर आप भी मब्ब्स का पढाई कर रहे है या करना चाहते है तो ये आर्टिकल आपके लिए है

जिनको इसकी जरुरत हो उनको आप शेयर भी कर सकते है तब तक के लिए मिलते है एक नए कॅरिअर विकल्प के साथ तब तक के लिए Forbrother.com के तरफ से आप मस्त रहे और व्यस्त रहे .

और पढ़े : 

Leave a Comment