Arts lene ke fayde? 10th के बाद आर्ट्स के फायदे जाने

Art Side Lene Ke Fayde | Benefits Of Arts Stream | 10th Ke Baad Arts Lene Ke Fayde | 10th Ke Bad Kya Kare | Kya Na Kare

दोस्तों आपने भी अगर दसवीं का एग्जाम पास करके आगे की पढाई के बारे मैं सोच रहे है और आर्ट्स लेने के बारे में सोच सोच कर चिंतित है तो आप चिंता लेना छोड़ दीजिये क्योकि हम आपको बताएँगे की आर्ट्स लेने के क्या फायदे है और आर्ट्स लेकर के भी आप किस किस तरह की पढाई कर सकते है ये सब हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से समझायेंगे इसलिए आप चिंता लेना छोड़ दीजिये और इसे पूरा पढ़े।

बहोत सरे लोगो के मन में यही सवाल आई आर्ट्स सिर्फ वही लोग लेते है जिनके दसवीं में काम नम्बर आते है लेकिन इस पोस्ट के माध्यम से आपका ये भ्रम भी टूट जायेगा और 12th के बाद आप करे arts lene ke fayde आर्ट्स लेने के बाद आप क्या क्या कर सकते है सारा कुछ विस्तार से जानेगे

10th के बाद आर्ट्स लेने के फायदे (Arts Lene Ke Fayde)

दोस्तों अक्सर कुछ लोग यही सोचते हैं कि आर्ट्स लेने वाला मैट्रिक में कम नंबर लेकर आया होगा इसलिए आर्ट्स लेकर पढ़ रहा होगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है दोस्तों आर्ट्स करने के बाद आपके पास बहुत सारे ऑप्शन होते हैं जिसकी जिसमें रुचि होती है वह वही लेता है कुछ लोगों का रूचि आर्ट्स में होती है कुछ लोगों का साइंस में होता है तो कुछ लोगों का कॉमर्स में होता है

अगर आप की मन में यह चल रहा होगा कि आर्ट लेकर आगे इसमें ऐसी कौन-कौन सी तैयारी कर सकते हैं तो हम बताते हैं इसमें बहुत सारी तैयारियां या जॉब ऑप्शन होते हैं जैसे Arts lene ke fayde में सरकारी ऑफीसर जनलिस्ट, राजनेता, प्रोफेसर, वकील, बैंक मैनेजर, इत्यदि आप इनमें से किसी एक को साथ तैयारी कर सकते हैं इन सब में आपका फ्यूचर सेक्योर रहेगा

आर्ट लेकर आप निम्नलिखित विषयों में से किसी एक में भविष्य बना सकते हैं

  • B.A (Bachelor of Arts)
  • B.C.A (Bachelor of Computer Application)
  • B.H.M (Bachelor of hotel management)
  • B.F.A (Bachelor of fine arts)
  • Bachelor of law
  • I.T.I (Industrial Training Institute)
  • Fashion Designing
  • Event Management

B.A (Bachelor of Arts)

दोस्तोंअगर आप आर्ट से 12th का एग्जाम पास कर लेते हैं तो आपके पास जो सबसे पहला ऑप्शन होता है वह होता है BA यानी बैचलर आफ Arts lene ke fayde  आर्ट्स और कुछ लोग सोचते है की बा क्यों करे तो दोस्तों अगर आप इसको करते हैं तो आपको बहोत सारी सरकारी एग्जाम का तयारी करके सरकारी अफसर बन सकते है और बहोत सारी जॉब कर सकते है जो हमने निचे बताया है

B.C.A (Bachelor of Computer Application)

आज के डेट में कंप्यूटर की मांग हर एक क्षेत्र में हो रही है चाहे वह सरकारी काम हो या प्राइवेट सेक्टर का काम हर एक जगह कंप्यूटर की डिग्री की मांग हो रही है तो अगर आप सरकारी जॉब ना चाह कर अगर बड़ी आईटी सेक्टर में काम करना चाहते हैं तो आप बैचलर ऑफ कंप्यूटर आर्ट्स कर सकते हैं इसमें भी आपको बड़ी-बड़ी आईटी सेक्टर की कंपनियां है जो अच्छे पैकेज पर आपको जॉब ऑफर करती हैं जिसमे आप 150000 लाख तक के सेलरी पा सकते है।

B.H.M (Bachelor of hotel management)

बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट आज की डेवलपमेंट हो रही दुनिया में बड़े-बड़े होटल का भी निर्माण हो रहा हैऔर उनको देख रेख करने के लिए होटल के मालिक ऐसे बंदे को हायर करते हैं जिसे इस फील्ड मेंअच्छी Arts lene ke fayde  जानकारी हो और उसके साथ-साथ आपके पास बैचलर आफ होटल मैनेजमेंट का डिग्री भी होना चाहिए इस क्षेत्र में भी आपको अच्छे पैकेज पर होटल मालिक रखते हैं जिसमें बड़े-बड़े होटल मालिक तो महीने की सैलरी 50000 से 150000 तक देने को तैयार हो जाते हैं अगर आप इस फील्ड में अच्छी तरह से जानकारी रखते हैं तो आप बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं जो 4 साल का होता है।

B.F.A (Bachelor of fine arts)

बीएफए यानी बैचलर ऑफ फाइन आर्ट यह कोर्स कला के ऊपर है अगर आप में ऐसा कोई टैलेंट है जिसमें आप अपना कला दिखा सके जैसे में पेंटिंग, करना नृत्य, करना संगीत, गाना फोटोग्राफी,Arts lene ke fayde करना तो आप इसे कर सकते हैं यह कोर्स खास कर बड़े-बड़े शहरों में कराया जाता है जैसे में दिल्ली, पुणे, बेंगलुरु, चेन्नई, मुंबई, जैसे शहरों में कराया जाता है अगर आप भी अपने कला को एक नया नाम देना चाहते हैं तो आप इस बैचलर ऑफ फाइन आर्ट को कर सकते हैं और अपना एक अलग पहचान बना सकते हैं।

arts lene ke fayde?
arts lene ke fayde? 10th के बाद आर्ट्स के फायदे जाने

Bachelor of law

बैचलर ऑफ लव एक वकालत की पढ़ाई है जिसमें आपको भारतीय कानून से संबंधित सारी जानकारी सारी धाराएं और नियमों के बारे में बताया जाता है जो सिर्फ आप एलएलबी करने के बाद ही कर सकते हैं Arts lene ke fayde  अपने भारत में बहुत सारे कानून हैं बहुत सारे धाराएं हैं जिसकोअच्छी तरह से समझने के लिए जानने के लिए आपको एलएलबी की पढ़ाई करना पड़ता है

आपका भविष्य का स्कोर सुनहरा है जैसे जैसे आपके पास जानकारी का भंडार होता चला जाएगा वैसे-वैसे आपको प्रमोशन के तौर पर एक नई उपाधि मिलती चली जाएगी जिसमें सबसे ऊपर आपको मुख्य न्यायाधीश का उपाधि होता है जो आपको अधिक सीनियर होने पर या यु कहे तो आपको उसके लिए काफी लंबा समय देना पड़ सकता है अगर आप चाहते हैं बैचलर ऑफ लव करना इसमें भी दो तरह से कर सकते हैं पहला है अंडर ग्रेजुएट जिसमें 5 साल का समय देना पड़ता है और दूसरा है ग्रेजुएट होने के बाद जिसमें आपको 3 साल का समय देना पड़ता है।

I.T.I (Industrial Training Institute)

I.T.I (Industrial Training Institute) एक एक ऐसा संसथान है जो भारत सरकार के द्वारा चलाया जाता है Arts lene ke fayde  इस कोर्स के माध्यम से युवाओ को कौशल विकाश का ट्रेनिंग दिया जाता है जिसके माध्यम से वो सरकारी या प्राइवेट किसी भी संस्था से डिग्री लेकर किसी कंपनी में जॉब करके अच्छा पैसा कमा सकते है आज के समय में ऐसे बहोत से प्राइवेट कम्पनिया है जो आईटीआई किये हुए बन्दों को अच्छे सैलेरी पर जॉब दे रही है

आप इस कोर्स को आर्ट्स करने के बाद किसी भी सरकारी संस्थान या प्राइवेट संस्थान से कर सकते है ये कोर्स 4 सेमेस्टर में होता है जिसे करने के लिए आपको 2 साल का समय देना पड़ेगा।

Fashion Designing

फैशन डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए आप निम्नलिखित जगहों पर जाकर या उनकी आधिकारिक वेबसाइटों पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं विभिन्न शहरों में फैशन इंस्टीट्यूट्स उपलब्ध हैं जो फैशन डिजाइनिंग कोर्से और प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। Arts lene ke fayde  कुछ उदाहरण हैं NIFT (राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान), परिसर और अन्य निजी फैशन इंस्टीट्यूट्स।

  • विश्वविद्यालयों और कॉलेजों: कुछ विश्वविद्यालय और कॉलेज भी फैशन डिजाइनिंग कोर्स प्रदान करते हैं। आप अपने क्षेत्र में उपयुक्त विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की जाँच कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफार्म्स: कुछ शिक्षा प्लेटफार्म्स ऑनलाइन फैशन डिजाइनिंग कोर्सेज और मास्टर क्लासेस प्रदान करती हैं। ये कोर्से विभिन्न स्तरों पर उपलब्ध हो सकते हैं।
  • सरकारी और निजी संस्थानों के पास कोर्सेज: कुछ सरकारी और निजी संस्थान भी फैशन डिजाइनिंग कोर्से प्रदान कर सकते हैं।
  • संबंधित वेबसाइट्स और फोरम्स: फैशन इंडस्ट्री के बारे में जानकारी प्राप्त करने और कोर्स विवरणों के बारे में अधिक जानकारी के लिए संबंधित वेबसाइट्स और फोरम्स का अध्ययन करें।

कोर्स चयन करने से पहले, संबंधित संस्थानों और प्रोग्रामों की पूरी जानकारी प्राप्त करने और उनकी प्रमाणितता या मान्यता की जाँच करना महत्वपूर्ण है।

Event Management

आप बा करने के बाद आप इवेंट मैनेजमेंट में भी अपना करियर बना सकते है इवेंट मैनेजमेंट के कोर्स के लिए आप निम्नलिखित विकल्प चूज का सकते है तो कुछ इस प्रकार है Arts lene ke fayde

  • कोर्स का चयन: सबसे पहला कदम यह है कि आपको किस प्रकार का इवेंट मैनेजमेंट कोर्स करना है। आप विभिन्न संस्थानों और विश्वविद्यालयों की वेबसाइटों पर जाकर उनके पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • प्रवेश प्रक्रिया: एक बार आपने एक कोर्स चुन लिया है, तो आपको उसकी प्रवेश प्रक्रिया के बारे में जानकारी लेनी होगी। यह शिक्षा संस्थान के आवश्यकताओं और अन्य मानदंडों पर निर्भर करेगा।
  • पाठ्यक्रम की विस्तृत जानकारी: एक बार प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो जाने पर, आपको कोर्स के बारे में विस्तृत जानकारी लेनी चाहिए। यह समाज, व्यक्तिगतता विकास, व्यावसायिक योजना आदि के बारे में शिक्षा का सारांश प्रदान करेगा।
  • प्रैक्टिकल अनुभव: इवेंट मैनेजमेंट व्यावसायिकता और क्रिएटिविटी की मांग करता है। इसलिए, आपको अधिसूचित इवेंट्स में सहयोग करने का अवसर मिलने चाहिए।
  • नेटवर्किंग और स्थानिक योजना: इवेंट मैनेजमेंट में सफलता पाने के लिए अच्छी नेटवर्किंग कौशल और स्थानिक योजना की आवश्यकता है। यह आपको सहयोग और अधिसूचित इवेंट्स में उपस्थित होने का अवसर प्रदान कर सकता है।
  • सर्टिफिकेट और प्लेसमेंट: आपके कोर्स समापन के बाद, आपको उपयुक्त सर्टिफिकेट दिया जाएगा जो आपके इवेंट मैनेजमेंट क्षेत्र में करियर बनाने में मदद कर सकता है। यदि संस्थान के द्वारा प्लेसमेंट सेवाएं प्रदान की जाती हैं, तो आप उनका भी लाभ उठा सकते हैं।

ध्यान दें कि आपकी क्षमताएँ और रुचियों के आधार पर आप विभिन्न प्रकार के कोर्स चुन सकते हैं, जैसे शादी, सामाजिक इवेंट्स, कॉर्पोरेट इवेंट्स आदि।

Bachelor in Journalism

जर्नलिस्ट बनने के लिए आपको निम्नलिखित कदमों का पालन करना होगा:

  • स्नातक की डिग्री (Bachelor’s Degree): सबसे पहला कदम है एक स्नातक की डिग्री प्राप्त करना। आप इसे जर्नलिज़्म, मास कम्युनिकेशन, या इंग्लिश होनर्स जैसे विषयों में पूरा कर सकते हैं।
  • पत्रकारिता कोर्स (Journalism Course): स्नातक की डिग्री के बाद, आपको किसी प्रमुख संस्थान या विश्वविद्यालय से पत्रकारिता संबंधित एक कोर्स जॉइन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। आप मास्टर्स इन जर्नलिज़्म (MJ), मास्टर्स इन मास कम्युनिकेशन (MMC), या पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन जर्नलिज़्म (PG Diploma in Journalism) जैसे कोर्स कर सकते हैं।
  • इंटर्नशिप (Internship): आपकी पढ़ाई के दौरान, पत्रकारिता क्षेत्र में इंटर्नशिप करना महत्वपूर्ण है। यह आपको वास्तविक अनुभव प्रदान करेगा और पत्रकारिता क्षेत्र में अनुभव हासिल करने में मदद करेगा।
  • विशेषज्ञता (Specialization): आप किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं, जैसे राजनीतिक पत्रकारिता, खेल पत्रकारिता, या विशेष रिपोर्ट लेखन। इससे आपके कौशल और ज्ञान को एक विशेष क्षेत्र में विकसित होगा।
  • लेखन कौशल (Writing Skills): पत्रकारिता में लेखन कौशल का महत्व अधिक होता है। आपको अपने लेखन कौशल को सुधारने के लिए नियमित अभ्यास करना चाहिए।
  • नेटवर्किंग (Networking): पत्रकारिता क्षेत्र में नेटवर्किंग भी महत्वपूर्ण है। आप मीडिया पेशेवरों से जुड़ सकते हैं और उनसे मार्गदर्शन और सलाह ले सकते हैं।
  • पोर्टफोलियो (Portfolio): एक मजबूत पोर्टफोलियो बनाएं जिसमें आपके लिखे हुए लेख और रिपोर्ट्स शामिल हों। यह आपके नौकरी खोज में मदद कर सकता है।
  • नौकरी खोज (Job Search): अपने शिक्षा और कौशलों को विकसित करने के बाद, आप मुद्रण मीडिया, टेलीविजन, रेडियो, या ऑनलाइन पत्रकारिता में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

12th से आर्ट्स करने के बाद Goverment Exams (arts lene ke fayde)

जैसा की मैंने ऊपर बताय था की आप दसवीं के बाद अगर 12th आर्ट्स करते है तो Arts lene ke fayde आप सरकारी अफसर भी बन सकते है जैसे में कुछ चर्चित वैकन्सी जो अधिक संख्या में हर साल निकलते रहते है आप इनमे से किसी का भी तयारी के डम पर निकल सकते है कुछ तो ऐसे भी है जिसे आप 12th के बाद ही भर सकते है जैसे में ये रहे।

रेलवे ग्रुप डी (Railway Group D)

रेलवे ग्रुप डी भारतीय रेलवे में एक चालकी स्तर की भर्ती है जिसमें विभिन्न गैर-तकनीकी पदों पर लोगों को नियुक्त किया जाता है। यह भर्ती कक्षा 10 या उसके समकक्ष पास उम्मीदवारों के लिए होती है। इसमें विभिन्न कार्यों जैसे गाड़ी सफाई, जनरल मेंटेनेंस, लाइन पर काम, ट्रैक गैंगमैन, हेल्पर, इत्यादि शामिल हो सकते हैं। Arts lene ke fayde

ग्रुप डी के पदों को भरने के लिए एक परीक्षा आयोजित की जाती है, जो कुछ चरणों में होती है – लिखित परीक्षा, शारीरिक दक्षता परीक्षण, और दस्तावेज़ सत्यापन। रेलवे ग्रुप डी पदों पर नौकरी प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को विभिन्न रेलवे जोन्स और उनके अनुशाखों में आवेदन करना होता है।

SSC GD (Staff Selection Commission, General Duty)

एसएससी जीडी का मतलब है “कर्मचारी चयन आयोग जनरल ड्यूटी”। एसएससी जीडी एक सरकारी भर्ती है जो पैरामिलिटरी बलों (जैसे सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, एनआईए, एसएसएफ) और असम राइफल्स में कांस्टेबल के पदों के लिए आयोजित की जाती है।

इस भर्ती में विभिन्न पदों पर उम्मीदवारों को चयन किया जाता है जो अपने कर्तव्यों को सीमा सुरक्षा, आंतरिक सुरक्षा, एंटी-नक्सल अभियान और कानून व्यवस्था के क्षेत्रों में निभाते हैं। Arts lene ke fayde

योग्यता और चयन प्रक्रिया एसएससी जीडी भर्ती के लिए प्रत्येक वर्ष अलग हो सकती है, इसलिए आपको एसएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर नवीनतम सूचनाएँ और निर्देशों की जांच करनी चाहिए।

एनडीए NDA (National Defense Academy)

एनडीए (नेशनल डिफेंस एकेडमी) से निकलने के बाद, आप विभिन्न शाखाओं में सेवानिवृत्त हो सकते हैं। यहां आपके उपाध्यायक क्षेत्र और प्रशिक्षण के क्षेत्र के आधार पर कई विकल्प हो सकते हैं। यहां एनडीए से सेवानिवृत्त होने के कुछ विकल्प दिए जा रहे हैं:

  • ऑर्डनेंस फैक्ट्रियों में कार्य (ऑडीए): यदि आपने आर्मी आदि में अधिकारी के रूप में शिक्षा प्राप्त की है, तो आप ऑर्डनेंस फैक्ट्रियों में अधिकारी के रूप में कार्य कर सकते हैं।
  • सैन्य स्कूलों या ट्रेनिंग स्थलों में शिक्षा: आप सैन्य स्कूलों या ट्रेनिंग स्थलों में शिक्षा देने के रूप में नौकरी कर सकते हैं।
  • सुरक्षा एजेंसियों में नौकरी: आप विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों जैसे BSF, CRPF, CISF, ITBP, SSB, आदि में अधिकारी के रूप में कार्य कर सकते हैं।
  • सरकारी विभागों में नौकरी: आप केंद्रीय और राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों में नौकरी कर सकते हैं।
  • सेना विभाग में सेवा: आप सेना के विभिन्न शाखाओं में अधिकारी के रूप में सेवा कर सकते हैं।
  • विदेशी सेनाओं में सेवा: आप विदेशी सेनाओं में अधिकारी के रूप में सेवा कर सकते हैं।

यह कुछ उदाहरण हैं, लेकिन यह आपके उपाध्यायक क्षेत्र और प्रसिक्षण के क्षेत्र के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। आपको अपने रुचि और उपाध्यायक क्षेत्र के हिसाब से नौकरी की खोज करनी चाहिए।

निष्कर्ष :

पूरा लेख पढ़ने के बाद आप यह समझ गए होंगे कि Arts Lene ke Fayde (Benefits Of Arts Stream) कितने सारे है। आप आर्ट्स लेकर भी ऑफिसर लेवल की नौकरी कर सकते है। इसलिए अगर आप आर्ट्स लेना चाहते है तो आपको जरूर लेना चाहिए।

अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे अपने उन दोस्तो के साथ शेयर करें जो आर्ट्स लेकर पढ़ाई कर रहे है या फिर आर्ट्स लेने का सोच रहे है।

ये भी पढ़े : 12th commerce ke baad govt job: 12th कॉमर्स छात्रों के लिए सरकारी नौकरी ही नौकरी

1 thought on “Arts lene ke fayde? 10th के बाद आर्ट्स के फायदे जाने”

Leave a Comment